विवाहिता की हत्या में पति और ससुर को उम्रकैद

ऋषिकेश। हरिपुरकलां में विवाहिता की गला दबाकर हत्या में पति और ससुर को द्वितीय अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने दोषी करार देते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई और 10-10 हजार का अर्थदंड भी लगाया।

बता दें कि चार जुलाई 2018 को पंकज निवासी शेरगढ़, बरेली, उत्तरप्रदेश ने रायवाला थाने में तहरीर देते हुए आरोप लगाया था कि हरिपुरकलां बालाजी आश्रम में किराये के मकान के निवासी पति रोहित और ससुर ओमप्रकाश ने एक जुलाई को उसकी बहन मंजू की गला दबाकर हत्या की। और हत्या के बाद इस पूरे मामले को आत्महत्या का रूप देने की कोशिश भी की थी।

Loading...

इस पर रायवाला पुलिस ने दोनों आरोपितों के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज करके आरोपितों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया था, जिसके बाद से यह मामला द्वितीय अपर जिला एवं सत्र न्यायालय में चल रहा था।

शुक्रवार को द्वितीय अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश शिवाकांत द्विवेदी की अदालत में विवाहिता मंजू तिवारी (22) की हत्या के मामले में अंतिम फैसला सुनाया गया। इसमें आरोपित पति रोहित तिवारी और ससुर ओमप्रकाश तिवारी को मंजू की हत्या का दोषी करार देते हुए उम्र कैद और दस-दस हजार अर्थदंड की सजा सुनाई और अर्थदंड न देने पर तीन-तीन महीने का अतिरिक्त कारावास भुगतना पड़ेगा।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *