कौड़िया किमसार सड़क पर एक साल बाद तक नही बन पाया पुश्ता, पूरा क्षेत्र खतरे की जद में

डांडामंडल की जीवन रेखा कहे जाने वाला कौड़िया किमसार सड़क इस खस्ताहाल में है कि पता नहीं चलता कि सड़कों पर गढ्ढे हैं, या गढ्ढों पर सड़क। वैसे कौड़िया किमसार सड़क डांडामण्डल और यमकेश्वर के हर चुनाव में प्रमुख मुद्दा बनकर उभरती है, उस समय किये गये वादों से तो लगता है कि सड़क ऐसी बनेगी कि दोबारा शायद पता नहीं कितने सालों में बन पायेगी। डांडामण्डल क्षेत्र के दर्जनों गॉव के लिए यह आधारभूत सड़क है, यहॉ से हर रोज सामान्य दिनों में 200 से ज्यादा लोग आवाजाही करते हैं। यह सड़क हमेशा शुरू से ही पार्क के मध्य होने के कारण चर्चा और विवादों में रही है।

डांडामण्डल किमसार के निवासी दीपक कण्डवाल, और ग्राम प्रधान मल्ला बणास के बचन बिष्ट ने बताया कि लोहा सिद्ध के पास पिछले साल से पुश्ता गिरा हुआ है, पिछले पंचायत चुनाव से पहले इस सड़क को दो माह बाद बनाने की घोषणा हुई थी, लेकिन आठ माह व्यतीत हो गये हैं और अभी तक सड़क तो दूर पुश्ता तक नहीं बन पाया है। दीपक कण्डवाल ने बताया कि हर रोज इस सड़क पर लोगों की आवाजाही होती है, पुश्ता टूटने के कारण वहॉ पर वाहन चालकों के मन में हमेशा भय बना रहता है, सब जान को जोखिम में डालकर उस जगह से गुजरने को मजबूर हैं।

ग्राम प्रधान मल्ला बणास बचन बिष्ट का कहना है कि यदि यह पुश्ता बरसात से पहले नही बनाया गया तो सड़क पूरी तरह जमीनाजाद हो जायेगी और पूरा डांडामण्डल क्षेत्र का सम्पर्क मुख्य बाजार हरिद्वार ऋषिकेश से कट जायेगा। यह वैसे पार्क प्रशासन के अन्तर्गत आता है लेकिन सड़क का रखरखाव लोक निर्माण विभाग दुगड्डा के द्वारा किया जाता है। उन्होनें यह भी बताया कि भूस्खलन होने के कारण सड़क बिल्कुल गहरी खायी के ऊपर से हाईटेंशन लाईन की तरह गुजर रही है, पुश्ते का आधा ही निर्माण हुआ है, वहॉ पर रखे मिट्टी और रेत के कठ्ठे भी अभी दो दिन पूर्व ही बारिश से ही घंसकर नीचे चले गये हैं, आने वाली बरसात तो इस सड़क के लिए मुसीबत बनकर उभरेगी, यदि समय रहते पुश्ते का निर्माण नहीं होता है, तो क्षेत्र के निवासियों के लिए आवाजाही की बड़ी समस्या हो जायेगी।

बता दें कि इस पुश्ते को लेकर कई बार स्थानीय लोगों ने सोशल मीडिया के माध्यम से आवाज उठायी, लेकिन वह आवाज सोशल मीडिया तक ही सीमित रह गयी और पुश्ते का निर्माण नहीं हो पाया। पुश्ता टूटने से सड़क खतरे की जद में है, यदि यह पुश्ता नहीं बनता है तो आने वाली एक बरसात पूरी सड़क को खाई में तब्दील कर देगी और तब आने जाने का एक मात्र मोटर मार्ग से सारा क्षेत्र बंचित रह जायेगा।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *