पुलिस की गिरफ्त में आये कमलेश तिवारी हत्याकांड के आरोपी

उत्तर-प्रदेश, ब्यूरो |  कमलेश तिवारी हत्याकांड के बाद से उत्तर प्रदेश का राजनैतिक माहौल आजकल काफी गर्म हो चुका है। कमलेश के हत्यारों को गिरफ्तार किया जा चुका है। पुलिस का कहना है कि बदमाश कमलेश तिवारी की हत्या करने ट्रेन से लखनऊ आए थे। उसके बाद वे चारबाग रेलवे स्टेशन से कमलेश के घर का पता पूछते हुए गणेशगंज पहुंचे थे। हत्यारों की लोकेशन हरदोई से मुरादाबाद होते हुए गाजियाबाद में मिली। इस हत्याकांड के लिए हत्यारों ने गूगल की मदद से कमलेश तिवारी की जानकारी जुटाई थी।  गूगल मैप की सहायता से ही हत्यारे कमलेश तिवारी की लोकेशन तलाश कर खुर्शीदबाग पहुंचे थे।

Loading...

आपको बता दें कि मामले की जांच के दौरान हत्यारों का सुराग लगाने के लिए पुलिस ने 3 मोबाइल नंबर खंगाले। उनमें से एक नंबर 17 अक्टूबर को एक्टीवेट हुआ राजस्थान का निकला। वारदात के एक दिन पहले रात करीब साढ़े 12 बजे इसी नंबर से कमलेश को कॉल की गई थी। पड़ताल करने पर वो नंबर कानपुर देहात के टैक्सी चालक का निकला। इसके बाद जांच और तेजी से होने लगी तथा हत्यारों को पकड़ने के लिए पुलिस की 10 टीमें लगाई गई। इस बीच गुजरात के हवाई अड्डों से दिल्ली और लखनऊ की फ्लाइट के यात्रियों से भी पूछताछ की गयी। अंततः छानबीन के बाद सभी अपराधी पुलिस की गिरफ्त में आ गये हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *