India Times Group
बाइडन ने भारतीय-अमेरिकी वकील अरुण सुब्रमण्यन को न्यूयार्क के डिस्ट्रिक्ट न्यायाधीश के तौर पर किया नामित
 

वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने भारतीय-अमेरिकी वकील अरुण सुब्रमण्यन को न्यूयार्क के सदर्न डिस्ट्रिक्ट का न्यायाधीश नामित किया है। इस संबंध में बीते मंगलवार को व्हाइट हाउस की ओर से संसद को एक पत्र भेजा गया। संसद से अगर सुब्रमण्यन के नाम को मंजूरी मिल जाती है तो वह न्यूयार्क के सदर्न डिस्ट्रिक्ट की अदालत के न्यायाधीश बनने वाले पहले दक्षिण एशियाई व्यक्ति होंगे।

वह वर्तमान में न्यूयार्क के सुसमन गोडफ्रे एलएलपी में साझेदार हैं जहां वह 2007 से काम कर रहे हैं। सुब्रमण्यन ने अमेरिका के उच्चतम न्यायालय के न्यायमूर्ति रुथ बेडर गिन्सबर्ग के कानूनी क्लर्क के तौर पर 2006 से 2007 के बीच काम किया था। इसके अलावा वह 2005 से 2006 तक न्यूयार्क के सदर्न डिस्ट्रिक्ट की अदालत के न्यायाधीश जेरार्ड ई लिंच के लिए भी काम कर चुके हैं। सुब्रमण्यन ने कोलंबिया लॉ स्कूल और ‘केस वेस्टर्न रिजर्व विश्वविद्यालय से पढ़ाई की है।

राष्ट्रीय एशियाई प्रशांत अमेरिकी बार एसोसिएशन (एनएपीएबीए) ने सुब्रमण्यन के नामित होने पर उन्हें बधाई दी। एनएपीएबीए के कार्यवाहक अध्यक्ष ए. बी. क्रूज तृतीय ने कहा कि सुब्रमण्यन एक अनुभवी वकील हैं जिन्होंने बिना पैसे लिए कई मुकदमे लड़े हैं। उन्होंने कहा, ‘वह (सुब्रमण्यन) प्रवासियों की संतान हैं। वह अपने परिवार में वकील बनने वाले पहले व्यक्ति हैं और हमें उन्हें देखकर गर्व होता है। हम सीनेट से अनुरोध करते हैं कि उनके नाम को शीघ्र मंजूरी दी जाए।’