GHI रिपोर्ट के अनुसार भारत पाकिस्तान और बांग्ला देश से पीछे, देश के लिए बजी खतरे की घंटी

नई दिल्ली, ब्यूरो |  ग्लोबल हंगर इंडेक्स  की रैंकिंग में देश का 117 देशों में 102वां स्थान है, लेकिन हैरानी की बात ये है कि भारत की ये रेंकिंग लगातार गिरती जा रही है। इस से पहले 2014 में भारत 77 देशों की रैंकिंग में 55वें स्थान पर था। अब आपको ये समझ नहीं आ रहा होगा कि ये ग्लोबल हंगर इंडेक्स आखिर कौन सी बला है। दरअसल ये वो बला है जिसमे ये देखा जाता है कि एक देश में कितने लोगों को भरपेट भोजन नहीं मिल पा रहा है। इसीके साथ इसमें ये भी देखा जाता है कि एक देश में कितने बच्चे कुपोषण के शिकार हैं। GHI को मुख्य रूप से राष्ट्रीय और क्षेत्रीय स्तर पर भूख को मापने और इसके मुकाबले में प्रगति करने के आंकलन के लिए डिजाइन किया गया था। भारत के लिये खतरे की बात ये है कि इस लिस्ट में भारत बांग्ला देश और श्रीलंका जैसे छोटे देशों से पीछे है। ये तो कुछ भी नहीं है, हैरान कर देने वाली बात तो यह है कि भारत इस मामले में पाकिस्तान जैसे देश जो कि मंदी के बुरे दौर से गुजर रहा है, उस से भी पीछे है।

Loading...

इस साल की GHI रिपोर्ट ने भारत की इस स्थिति को लेकर काफी चिंता जताई है। इस रिपोर्ट को Wealt hunger hilf and Concern Worldwide ने तैयार किया है। इस रिपोर्ट के अनुसार भारत अब उन 45 देशों की लिस्ट में शामिल हो गया है, जिन देशों की हालत भूखमरी के कारण खतरे में है। इसके अनुसार 2015-2016 में  90 फीसदी भारतीय परिवारों ने एक बेहतर पेयजल स्रोत का उपयोग किया, जबकि 39 फीसदी घरों में स्वच्छता की सुविधा नहीं थी। आपको बता दें कि देश में चल रही समस्या भुखमरी के कारण GHI की रिपोर्ट्स में देश का स्तर लगातार गिरता जा रहा है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *