Friday, July 30, 2021
Home अंतर्राष्ट्रीय गिलगिट-बाल्टिस्तान प्रॉविंस की कवायद, पाकिस्तानी छटपटाहट या चीनी चाल?

गिलगिट-बाल्टिस्तान प्रॉविंस की कवायद, पाकिस्तानी छटपटाहट या चीनी चाल?

भारत ने पाकिस्तान के इस कदम का सख्त विरोध करते हुए कहा कि अवैध कब्ज़े वाले क्षेत्र (PoK) में पाकिस्तान चुनाव कराने की हिमाकत के तौर पर गलत कदम उठा रहा है। गिलगिट-बाल्टिस्तान भारत का अभिन्न अंग है।

दो स्थितियां अहम हैं। एक, समुद्र में भारत और अमेरिकी बलों की भारी तैनाती से खतरा महसूस करने वाले चीन को व्यापार, खास तौर से तेल के आयात के लिए एक सेफ रूट चाहिए, जो पाकिस्तान उसे देता है। आर्थिक कॉरिडोर (CPEC) के एवज़ चीन ने न केवल पाकिस्तानी बंदरगाह को एक तरह से हथिया लिया है बल्कि अपना मिलिट्री बेस भी बना लिया है। दूसरे, ये कि ऐसे समय में, जब पाकिस्तान आतंक के कारण और चीन Covid-19 व विस्तारवादी नीतियों के चलते दुनिया से कट गए हैं, तो एक दूसरे के स्वाभाविक साथी बन चुके हैं।

चीन के कर्ज़ और एहसानों के तले दबा हुआ पाकिस्तान पूरी तरह से चीन के इशारों पर नाचने के लिए मजबूर है। वहीं, भारत के साथ सीमा पर चीन ने जो तनाव बना रखा है, उसके चलते भी पाकिस्तान उसके लिए अहम है। इन स्थितियों में पाकिस्तान के कब्ज़े वाले कश्मीर में गिलगिट-बाल्टिस्तान को पाकिस्तान के नये पूरे प्रॉविंस के तौर पर जल्द घोषित किए जाने की खबरें खासी रणनीतिक अहमियत रखती हैं क्योंकि भारत इस कदम पर विरोध दर्ज करा चुका है।

पाकिस्तान के दावे वाले गिलगिट और बाल्टिस्तान इलाके का नक्शा विकिकॉमन्स से साभार।

भारत को जवाब देने की छटपटाहट
इस पूरे मामले को समझने के लिए करीब दो हफ्ते पहले की रिपोर्ट्स को समझना ज़रूरी है। बीते 16 सितंबर को गिलगिट-बाल्टिस्तान के मामलों के मंत्री अली अमीन गंडापुर ने कहा कि पीएम इमरान खान जल्द ही पाकिस्तान के पांचवे प्रॉविंस की घोषणा कर सकते हैं। भारत के पिछले साल कश्मीर को दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांटने के कदम का करारा जवाब देने की पाकिस्तान की छटपटाहट के तौर पर इस कदम को डिकोड किया जा रहा है।

इससे पहले भारत को घेरने के लिए पाक ने संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर से धारा 370 से हटाए जाने के मामले को उठाया था। यही नहीं, पाक ने भारतीय कश्मीर को अपने नक्शे में दिखाने की हिमाकत भी की थी। लेकिन, विशेषज्ञों की मानें तो इन कदमों से भारत को जब झटका नहीं लगा तो पाक एक खास चाल की जुगत में था।

क्या ये चीन की मर्ज़ी के बगैर मुमकिन है?
जी नहीं। बहुत सीधी सी बात है कि चीन ने पाकिस्तान में जो इकोनॉमिक कॉरिडोर बनाया है, उसका रूट गिलगिट-बाल्टिस्तान से होकर है और यहां चीन का बहुत बड़ा निवेश है। दूसरे, लद्दाख में भारत के साथ संघर्ष की जो स्थितियां पिछले तीन महीनों से बनी हुई हैं, उनके मद्देनज़र चीन की मर्ज़ी और इजाज़त के बगैर यहां पाकिस्तान कोई बड़ा रणनीतिक या राजनीतिक फेरबदल कर पाने की स्थिति में नहीं है। डिप्लोमेट के लेख में भी साफ है कि भले ही पाक के इस कदम के पीछे चीन का दिमाग न हो, लेकिन चीन का उकसावा तो है ही।

कितने दबाव में है पाकिस्तान?
चीन की बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव की महत्वाकांक्षी परियोजना के क्षेत्र में भी पाकिस्तान का हिस्सा शामिल है। गिलगिट-बाल्टिस्तान में इस बीआरआई प्रोजेक्ट अन्य इलाकों की तुलना में बहुत तेज़ी से विस्तार हो रहा है। इसी साल जून में पूरी तरह चीन के फंड से ग्वादर पोर्ट से कशगर तक रेलवे लाइन के काम के लिए 7।2 अरब डॉलर मंज़ूर किए गए थे।

कुल मिलाकर पाक में चीन 60 अरब डॉलर से ज़्यादा के निवेश कर चुका है और जो गुप्त ढंग से उसने पाक को भारी भरकम कर्ज़ दिए हैं, वो अलग हैं। पाकिस्तान इस हालत में है ही नहीं कि वो चीन को ‘न’ कर सके।

क्या आसान है प्रॉविंस बनाने की राह?
भले ही चीन का बैकअप हो, लेकिन पाकिस्तान के लिए यह आसान नहीं होगा कि वह गिलगिट-बाल्टिस्तान को प्रॉविंस बना पाए क्योंकि यहां लोग कथित तौर पर पाकिस्तान के विरोध में हैं। अंतर्राष्ट्रीय डिफेंस में दखल रखने वाले लेखक अमित बंसल के लेख में बताया गया है कि प्रॉविंस बनाने के लिए पाक के सामने क्या चुनौतियां होंगी।

india china tension, india pakistan tension, pakistan china relation, india pakistan china, भारत चीन तनाव, भारत पाकिस्तान तनाव, पाकिस्तान चीन संबंध, भारत पाकिस्तान चीन

खूंजरेब पास पर पर्यटकों का एक फाइल चित्र।

– डोगरा साम्राज्य के ज़माने में एक कानून था, जिसके तहत किसी ज़मीन को सरकारी प्रोजेक्ट के लिए बगैर मुआवज़े के टेकओवर किया जा सकता था। ऐसे पुराने कानून से यहां पाकिस्तान भूमि अधिग्रहण कर रहा है।
– दूसरा मुद्दा यह है कि यहां पिछले कई सालों में पाकिस्तान सरकारों ने कुछ नहीं किया है। सड़क, स्वास्थ्य और विकास के नाम कोई काम नहीं हुआ है। यहां के लोग पाकिस्तान के खिलाफ हैं।
– तीसरा मुद्दा है यहां की नस्ल। यहां शिया बहुल आबादी है, जो सुन्नी बहुल पाकिस्तान का साथ देने में हिचकेगी क्योंकि पाकिस्तान में गैर सुन्नियों जैसे हाज़रा, अहमदी आदि का हाल दमन का ही रहा है।
– यहां चीन पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर की वजह से विस्थापित हो चुके हज़ारों परिवार अब भी मुआवज़े के लिए लड़ रहे हैं और उन्हें पाकिस्तान से कोई मदद नहीं मिली है।

माना जा रहा है कि इन तमाम स्थितियों के चलते पाकिस्तानी पीएम पाकिस्तानी सूबे को बहाल करने के लिए यहां के लोगों को किसी किस्म का लालच दे सकते हैं या तुष्टिकरण की नीति अपना सकते हैं। इसके बावजूद, पाक की राह जल्द आसान होती नज़र नहीं आ रही है, लेकिन भारत को यहां लगातार नज़र रखकर रणनीतिक कदम भी उठाने होंगे।

Source link

RELATED ARTICLES

तिहाड़ में बंद अंडरवर्ल्ड डॉन एम्स में भर्ती, चल रहा इलाज

दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन की तबीयत एक बार फिर खराब हो गई है, जिसके चलते उसे तिहाड़ जेल...

नई दिल्ली:वैज्ञानिकों की गंभीर चेतावनी, महाविनाश रोकने के लिए लेना होगा एक्शन

डी.एस.नेगी/इंडिया टाइम्स ग्रुप हिंदी न्यूज़,नई दिल्ली: वैज्ञानिकों ने एक चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि विश्व में चार ऐसे देश हैं, जो दुनिया...

नई दिल्ली:एम्‍स ने दिया बड़ा बयान,जल्द शुरू होगा बच्चो का टिकाकरण,

डी.एस.नेगी/इंडिया टाइम्स ग्रुप हिंदी न्यूज़,नई दिल्ली: दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने राहतभरी खबर दी है। उन्होंने...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

भाजपा राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष बोले सोशल मीडिया के माध्यम से करना है अच्छे वातावरण का निर्माण

देहरादून। भारतीय जनता पार्टी प्रदेश मुख्यालय में सोशल मीडिया वॉलिंटियर मीट में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री श्री बीएल संतोष ने कहा...

मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु के कड़े निर्देश, प्रतिदिन 10 से 12 बजे तक हो जनसम्पर्क एवं जन समस्याओं का समाधान

प्रत्येक माह कार्यवाही एवं परिणाम की रिपोर्ट भेजेंगे अधिकारी देहरादून। मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. संधु ने प्रदेश में सुशासन के दृष्टिगत जनसंवाद एवं जन समस्याओं...

समाजसेवी व नौटियाल सर्जिकल के मालिक अशोक नौटियाल का कोरोना जन-जागरूकता अभियान जारी, मास्क, सेनेटाइजर बांटकर दवाई भी और कड़ाई भी का दे रहे...

देहरादून। वर्तमान में कोरोना के आकड़े भले ही कम हो गए हों लेकिन यह खत्म नहीं हुआ है। रोज नए मरीज सामने आ रहे...

ऑरेंज अलर्ट जारी, नौगांव में गोशाला पर गिरा भारी मलबा, बदरीनाथ-यमुनोत्री-पिथौरागढ़ हाईवे बंद

उत्तराखंड में गुरुवार को भी बादलों का कहर जारी है। पहली घटना में उत्तरकाशी के नौगांव में एक गोशाला के ऊपर भारी मलबा आ गया...

तिहाड़ में बंद अंडरवर्ल्ड डॉन एम्स में भर्ती, चल रहा इलाज

दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन की तबीयत एक बार फिर खराब हो गई है, जिसके चलते उसे तिहाड़ जेल...

उत्तराखंड: आगामी 18 अगस्त तक चारधाम यात्रा पर लगी रोक, हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को दिए आदेश

चारधाम यात्रा पर आगामी 18 अगस्त तक रोक रहेगी। नैनीताल हाईकोर्ट ने बुधवार काे यह आदेश जारी किया है। कोर्ट ने कहा है कि चारधाम...

उत्तराखंड में स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाने के लिये हाईकोर्ट में दायर जनहित याचिका

देहरादून। पिछले दिनों पूरे भारत मे कोरोना महामारी ने अपने पैर पसार रखे थे जिससे उत्तराखंड भी अछूता नहीं है। भले ही कोरोना का...

अब रुपयों की कमी से नहीं रुकेगा ब्लड कैंसर से पीड़ित अनु धामी का ईलाज, CM धामी ने उनके पति मदन धामी को सौंपा...

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने एम्स ऋषिकेश में ब्लड कैंसर से पीड़ित अनु धामी के ईलाज हेतु मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से 05 लाख...

उत्तराखंड में 4 अगस्त तक बढ़ा कोविड कर्फ्यू, स्पा और सैलून के साथ खुलेंगे ये संस्थान, नाइट कर्फ्यू अभी रहेगा बरकरार

देहरादून। उत्तराखंड सरकार ने कुछ और रियायतों के साथ प्रदेश में कोविड कर्फ्यू को मंगलवार सुबह छह बजे से चार अगस्त सुबह छह बजे...

उत्तराखंड में पुलिस ग्रेड पे पर बोले सीएम धामी, सरकार ने स्वयं की पहल, सीएम आवास के मिथक पर कही ये बड़ी बात

देहरादून। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पूजा-पाठ के बाद सरकारी आवास में शिफ्ट हो गए हैं। इस दौरान उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में...

सीएम के चेहरे पर बोले प्रीतम, क्या मेरा चेहरा बुरा है…? कांग्रेस आलाकमान ने चुनाव में कोई चेहरा घोषित नहीं किया, सत्ता में...

देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा के नवनियुक्त नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह सोमवार को सुबह 11 बजे विधानसभा भवन में विधिवत रूप से पदभार ग्रहण कर लिया...

उद्योग मंत्री गणेश जोशी ने दिए नवनियुक्त उद्योग सचिव राधिका झा को औद्योगिक विकास में तेजी लाने के निर्देश

देहरादून। आज नवनियुक सचिव, उद्योगिक विकास, लघु, सूक्ष्म, एवं मध्यम उद्यम, खादी एवं ग्रामोद्योग विभाग राधिका झा ने कैंप कार्यालय में कैबिनेट मंत्री गणेश...

उत्तर प्रदेश:लखनऊ-योगी मुख्यमंत्री पद के लिए पहली पसंद

डी.एस.नेगी/इंडिया टाइम्स ग्रुप हिंदी न्यूज़,उत्तर प्रदेश:लखनऊ। स्वतंत्र एजेंसी मैटराइज न्यूज ने प्रदेश के 75 ज़िलों में करवाए गए सर्वे में दावा किया है कि...

नई दिल्ली:वैज्ञानिकों की गंभीर चेतावनी, महाविनाश रोकने के लिए लेना होगा एक्शन

डी.एस.नेगी/इंडिया टाइम्स ग्रुप हिंदी न्यूज़,नई दिल्ली: वैज्ञानिकों ने एक चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि विश्व में चार ऐसे देश हैं, जो दुनिया...

नई दिल्ली:एम्‍स ने दिया बड़ा बयान,जल्द शुरू होगा बच्चो का टिकाकरण,

डी.एस.नेगी/इंडिया टाइम्स ग्रुप हिंदी न्यूज़,नई दिल्ली: दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने राहतभरी खबर दी है। उन्होंने...