विदेश मंत्री एक जयशंकर अमेरिका के दौरे पर बोले, Howdy Modi के चलते पीएम मोदी ने नहीं किया ट्रम्प का समर्थन

दिल्ली, एजेंसी |  विदेश मंत्री एस. जयशंकर तीन दिन के अमेरिकी दौरे पर हैं। यह उनकी बतौर विदेश मंत्री पहली अमेरिका यात्रा है। इस दौरान उन्होंने पीएम मोदी और ट्रंप पर किए गए सवाल पर जवाब दिया। ह्यूस्टन में आयोजित ‘Howdy Modi’ के मेगा इवेंट में भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का समर्थन किया था। इसके कुछ दिनों बाद अब एस जयशंकर ने एक स्पष्टीकरण जारी किया और कहा कि मोदी ने ट्रंप को चुनाव के मद्देनजर किसी प्रकार का समर्थन नहीं दिया। उन्होंने कहा, ‘भारत का विदेशी नेताओं के प्रति “गैर-पक्षपातपूर्ण” दृष्टिकोण है।’ वर्तमान में वाशिंगटन डीसी की तीन दिवसीय यात्रा पर, जयशंकर से जब भारतीय पत्रकारों ने पीएम मोदी के ‘अब की बार ट्रंप सरकार के नारे’ पर सवाल करते हुए पूछा कि क्या मोदी, ट्रंप का आने वाले चुनाव में समर्थन कर रहे हैं? तो जयशंकर ने इस धारणा का जोरदार खंडन किया। उन्होंने कहा कि प्रधान मंत्री ने ट्रंप की मेजबानी के लिए प्रचार नहीं किया। बता दें कि 2020 में अमेरिका में प्रेसिडेंट के लिए चुनाव होने है।

जहां हाल में पीएम मोदी ने हाउडी मोदी के दौरान ट्रंप की जमकर तारीफ की थी। इस दौरान उन्होंने अपने फेमस नारे का भी इस्तेमाल किया, जिसमें सिर्फ मोदी की जगह ट्रंप कहा। जयशंकर के मुताबिक, पीएम मोदी ने ट्रंप की उम्मीदवारी का समर्थन नहीं किया। इस सवाल के जवाब में जयशंकर ने कहा, ‘नहीं, उन्होंने ऐसा कुछ नहीं कहा। मुझे लगता है कि पीएम मोदी ने ह्यूस्टन में जो भी कहा उसे बहुत सावधानी से समझने की जरूरत है। मेरी समझ में पीएम मोदी पिछले चुनाव की बात कर रहे थें, क्योंकि 2016 के राष्ट्रपति चुनाव के लिए कैंपेनिंग करते हुए खुद ट्रंप ने अबकी बार ट्रंप सरकार स्लोगन का इस्तेमाल किया था।’ वे अपनी तीन दिवसीय वॉशिंगटन यात्रा के दौरान अमेरिका के रक्षा सचिव मार्क एस्पर से भी मुलाकात करेंगे। बता दें कि इससे पहले विदेश मंत्री द्वारा सोमवार को आए बयान में भारत और अमेरिका के बीच व्यापारी मुद्दों को सुलझाए जाने की बात कही गई। अंतर्राष्ट्रीय शोध समूह कैरेंजी एंडाउनमेंट फॉर इंटरनेशनल रिलेशनशिप द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में जयशंकर ने कहा, ‘मोदी सरकार की विदेश नीति और प्राथमिकताएं “न्यू इंडिया” की वास्तविकताओं के साथ पूरी तरह तालमेल रखती हैं। भारत अभी दुनिया की पांचवी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है और जल्द ही यह तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होगा।’ उन्होंने कहा कि जल्द भारत और अमेरिका के बीच अधिकतर व्यापार मुद्दों को भविष्य में सुलझा लिया जाएगा।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *