India Times Group
पेटीएम मनी ने मार्जिन प्लेज फीचर लॉन्च किया
 यह यूजर्स को नए ट्रेड्स में अपने मौजूदा स्टॉक का लाभ उठाकर अपना पोर्टफोलियो बढ़ाने में मदद करता है
 
  • यह फीचर यूजर्स को कुछ ही क्लिक्स में सिक्यूरिटी मार्जिन के बदले ब्रोकर के पास अपना स्टॉक रखने की अनुमति देता है। ट्रेडिंग के घंटों के दौरान 30 मिनट के भीतर मार्जिन मिल जाता है।
  • यूजर्स को शेयर गिरवी रखने से प्राप्त मार्जिन को कैश सेगमेंट, फ्यूचर्स और ऑप्शन राइटिंग में एक दिन या एक ट्रेडिंग सेशन में इस्तेमाल करने में सक्षम बनाता है
  • गिरवी रखने की अवधि के दौरान शेयर यूजर्स के डीमैट अकाउंट मे ही रहते हैं और यूजर्स कॉरपोरेट संबंधी सभी तरह की कार्रवाई करने के योग्य होते हैं
  • गिरवी शुल्क और इस फीचर से बढ़े हुए ट्रांजैक्शन से पेटीएम मनी को उच्च राजस्व प्राप्त हो सकता है।

देहरादून। -उपभोक्ताओं और व्यापारियों के लिए भारत के प्रमुख डिजिटल इकोसिस्टम(1) पेटीएम ने आज अपनी पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी पेटीएम मनी द्वारा “मार्जिन प्लेज” फीचर लॉन्च किये जाने की घोषणा की। इस फीचर में यूजर्स को अपने मौजूदा शेयरों को सिक्युरिटी मार्जिन के बदले गिरवी रखने की इजाजत मिलेगी, जिसे कैश सेग्मेंट, फ्यूचर्स और ऑप्शन राइटिंग्स में पूरे दिन की ट्रेडिंग या एक ट्रेडिंग सेशन के दौरान इस्तेमाल किया जा सकता है।

शेयर्स का पोर्टफोलियो रखने वाले निवेशक फंड उपलब्ध न होने से ट्रेडिंग का मौका चूक सकते हैं। इस समस्या से निपटने के लिए पेटीएम मनी ने मार्जिन प्लेज फीचर को लॉन्च किया है। मार्जिन प्लेज वह प्रक्रिया है जिसमें यूजर्स सिक्युरिटी मार्जिन के बदले ब्रोकर के पास अपने स्टॉक गिरवी रख सकते हैं।  

आइए इसे एक उदाहरण से समझते हैं। मान लें कि एक निवेशक के पास 2,00,000 रुपये के शेयर हैं। ट्रेडिंग का मौका आने पर अपने पास फंड की कमी होने के कारण निवेशक लाभ नहीं ले पाता। इस स्थिति में यूजर्स अब अपने स्टॉक को ब्रोकर के पास गिरवी रख सकते हैं। ब्रोकर स्टॉक की कुल कीमत में 20 फीसदी, यानी 40 हजार रुपये की कटौती करता है और शेष 1 लाख 60 हजार रुपये के शेयर को सिक्युरिटी मनी के रूप में रखता है, जिसका ट्रेडिंग के मौकों के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

Paytm Money Margin Pledge

पेटीएम मनी ने शेयर को गिरवी रखने और शेयर को छुड़ाने की प्रक्रिया को सरल बनाने के लिए नई टेक्नोलॉजी का लाभ उठाया है। अब यह काम केवल कुछ क्लिक में हो सकता है। ट्रेडिंग के घंटों के दौरान सिक्युरिटी मनी 30 मिनट में हासिल की जा सकती है और सिक्युरिटी मनी की गणना वास्तविक समय में की जा सकती है। गिरवी रखे गए शेयर यूजर्स के डी-मैट अकाउंट में ही रहते हैं। यूजर्स भी कॉरपोरेट गतिविधियों में इसे इस्तेमाल करने के हकदार हैं। यूजर्स इसकी सीधे बिक्री भी कर सकते हैं।         

एफऐंडओ और एक दिन या एक सेशन में ट्रेडिंग करने वाले कारोबारी पेटीएम मनी के लिए राजस्व का मुख्य स्त्रोत हैं। इन ट्रेडर्स को अक्सर ट्रेडिंग के मौकों का लाभ उठाने और स्टॉक खरीदने के लिए मार्जिन, फ्यूचर और ऑप्शंस की जरूरत होती है। सिक्युरिटी मार्जिन का फीचर इन ट्रेडर्स के लिए प्लेटफॉर्म को ज्यादा आकर्षक बनाता है और उन्हें अपनी ट्रेडिंग गतिविधि बढ़ाने की क्षमता मिलती है। शेयर को गिरवी रखने और शेयर को छुड़वाने के अनुरोध के लिए हर इंटरनैशनल सिक्युरिटीज आइडेंटिफिकेशन नंबर (आईएसआईएन) पर 10 रुपये के चार्ज के साथ जीएसटी लगता है। इसलिए मनी प्लेज फीचर में पेटीएम मनी के लिए प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष, दोनों तरह से राजस्व बढ़ाने की क्षमता है।   

पेटीएम मनी के सीईओ, वरुण श्रीधर ने कहा कि, “पेटीएम मनी में हमने यूजर्स को बेहतर अनुभव प्राप्त करने और सभी संभावित अवसरों का लाभ उठाने में सक्षम बनाने के लिए टेक्नोलॉजी का सहारा लिया है। मनी प्लेज फीचर की लॉन्चिंग से निवेशकों को ट्रेडिंग के नए अवसरों का लाभ उठाने के लिए अपने मौजूदा पोर्टफोलियो के इस्तेमाल की इजाजत मिलेगी। इसके लिए हमने इस तरह का फीचर डिजाइन किया है, जिससे यूजर्स केवल कुछ क्लिक्स में ही संपूर्ण प्रक्रिया पूरी कर लें और उन्हें ट्रेडिंग का लगातार सुखद और सहज अनुभव मिलने में कोई रुकावट न आए।”

अभी तक ये फीचर चुनिंदा यूजर्स को ही उपलब्ध है। बाद में और अधिक यूजर्स तक इसे पहुँचाया जाएगा। इस समय यह फीचर एंड्रॉयड पर उपलब्ध है और शीघ्र ही आईओएस पर भी उपलब्ध होगा।