India Times Group
ईंधन की लागत बढऩे से इंडिगो का घाटा बढ़कर 1435.7 करोड़ पर पहुंचा
 

नयी दिल्ली। विमानन कंपनी इंटर ग्लोब एवियेशन लिमिटेड(इंडिगो) को चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में ईंधन की लागत में 207 फीसदी की बढोतरी होने नुकसान बढ़कर 1435.7 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है। पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में इंडिगो को 1194.8 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था। इस तरह से इसका घाटा 20.2 फीसदी बढ़ गया है।

कंपनी के निदेशक मंडल की बैठक के बाद आज यहां जारी वित्तीय लेखा जोखा के अनुसार सितंबर में समाप्त इस तिमाही में कंपनी का ईंधन पर व्यय 1989.4 करोड़ रुपये पर पहुंच गया जो सितंबर 2020 में समाप्त तिमाही के 646.4 करोड़ रुपये की तुलना में 207.8 प्रतिशत अधिक है। कंपनी का कुल व्यय दूसरी तिमाही में 7234.4 करोड़ रुपये रहा है जो पिछले वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के 4224.1 करोड़ रुपये की तुलना में 71.3 प्रतिशत अधिक है। कंपनी ने कहा कि इस तिमाही में उसका परिचालन राजस्व 5608.5 करोड़ रुपये रहा है जो पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के 2741 करोड़ रुपये की तुलना में 104.7 प्रतिशत अधिक है। इस दौरान कंपनी की कुल आय भी 91.4 प्रतिशत बढ़कर 5798.7 करोड़ रुपये पर पहुंच गयी।
जहां तक तिमाही दर तिमाही की बात है तो कंपनी का नुकसान पहली तिमाही की तुलना में दूसरी तिमाही में 54.8प्रतिशत घटकर 1435.7 करोड़ रुपये रहा है। पहली तिमाही में कंपनी को 3147.2 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था।