हल्द्वानी: मधुमक्खियों ने किया ऐसा कमाल, जान बचाकर दौड़े खुदकुशी करने टंकी पर चढ़े पार्षद

टंकी पर खुदकुशी करने चढ़े पार्षद को समझाइश देने कुछ लोग पहुंचे। इसी दौरान अचानक मधुमक्खियों ने हमला कर दिया। 

हल्द्वानी। कभी-कभी विरोध का गलत तरीका जानलेवा साबित हो सकता है। ऐसा ही कुछ हुआ उत्तराखंड के हल्द्वानी में हुआ जहां एक पार्षद अपनी मांगे मनवाने के लिए जल संस्थान की बहु मंजिला पानी की टंकी पर चढ़ गया और आत्महत्या की धमकी देने लगा। इसी दौरान कुछ लोग पार्षद को बचाने के लिए सीढ़ियों के जरिए पानी की टंकी पर चढ़े, लेकिन पार्षद मानने को तैयार नहीं था। पार्षद टंकी पर बचाने के लिए चढ़े लोगों से हाथापाई करने लगा। इसी दौरान टंकी के नीचे बने मधुमक्खी के छत्ते पर किसी शख्स का हाथ पड़ गया। इसके बाद मधुमक्खियों ने टंकी के ऊपर चढ़े पार्षद समेत आठ युवकों पर हमला बोल दिया। जो पार्षद पहले आत्महत्या की धमकी दे रहा था वो मधुमक्खियों से अपनी जान बचाकर पानी की टंकी से नीचे उतरने लगा। यही नहीं बाकी साथी भी अपनी जान बचाकर किसी तरह वहां से भागे।

इसलिए टंकी पर चढ़ा था पार्षद

हल्द्वानी में प्राइवेट स्कूलों की फीस के खिलाफ गांधीनगर से पार्षद रोहित कुमार पिछले 43 दिनों से धरना, प्रदर्शन और आंदोलन करके विरोध जता रहे थे। पिछले कुछ दिनों से रोहित और उनके साथ ही बुद्ध पार्क में आमरण अनशन कर रहे थे। इसी अनशन को तुड़वाने के लिए नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश भी अनशन स्थल पर पहुंची थीं, लेकिन तभी खबर आई कि मुख्य अनशनकर्ता पार्षद रोहित कुमार तिकोनिया के पास जल संस्थान की टंकी के ऊपर चढ़ गया है और आत्महत्या की धमकी दे रहा है। मौके पर नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश भी पहुंची, लेकिन पार्षद किसी की सुनने को तैयार नहीं था। इसी बीच उस पर मधुमक्खियों ने हमला बोल दिया जिससे पार्षद ने बमुश्किल जान बचाई। मधुमक्खियों के हमले में घायल पार्षद ने कहा कि वह 43 दिनों से स्कूल फीस के खिलाफ आंदोलन छेड़े हुए है लेकिन प्रशासन ने उसकी बात नहीं सुनी। इससे उसके भीतर गहरी नाराजगी थी जिसके चलते पानी की टंकी पर चढ़ा ताकि लोगों का ध्यान फीस जैसे महत्वपूर्ण मुद्दे पर जा सके।

सेकंड में गायब हुई सैकड़ों की भीड़

पार्षद पर जैसे ही मधुमक्खियों ने हमला बोला टंकी के नीचे खड़े सैकड़ों लोग सेकंड में ही गायब हो गए। पार्षद को मनाने के लिए पहुंची नेता प्रतिपक्ष को उनके सुरक्षाकर्मियों ने अपनी गाड़ी में बैठाया और किसी तरह वहां से निकाला। गौरतलब है कि पार्षद के पानी की टंकी में चढ़ते ही सैकड़ों लोग वहां जमा हो गए। साथ ही सड़क पर भी जाम लग गया, लेकिन जैसे ही मधुमक्खियों ने पार्षद पर हमला बोला सब रफूचक्कर हो गए। पुलिस की टीम भी मौके पर पहुंची। पुलिस वाले भी मधुमक्खियों के हमले से अपनी जान बचाते दिखे।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *