मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को बदनाम करने की साजिश, जाँच में जुटी पुलिस

देहरादून। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की छवि को नुकसान पहुंचाने का काम किया गया है। जिस को लेकर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने एक्शन लेते हुए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए है।मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत का कहना है कि आज दिनांक 23 जनवरी, 2020 को प्रातः 08.41 बजे उनके व्यक्तिगत ट्वीटर एकाउंट से नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के जन्मदिवस के अवसर पर श्रद्धासुमन अर्पित करते एक ट्वीट किया गया था। जिसका किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा स्क्रीनशाॅट लेकर उसमें जोड़ तोड़ कर सरकार की ओर से अमर्यादित शब्दों का प्रयोग कर सोशल मीडिया में वायरल किया गया है। इस पोस्ट को एडिट कर वायरल करके उनकी छवि को धूमिल करने का प्रयास किया गया है। मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र ने इस सम्बन्ध में अविलम्ब जांच कर दोषियों के विरूद्ध आवश्यक कार्यवाही हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/उपपुलिस महानिरीक्षक देहरादून को निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के द्वारा यह ट्वीट सुभाष चंद्र बोष की जयंती पर श्रद्धा सुमन अर्पित कर किया गया था। वही मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की छवि को नुकसान पहुँचने वाले तत्वों के द्वारा स्क्रीनशॉट लेकर उनके ट्वीट को एडिट किया गया जिसमे उनके द्वारा किए गए ट्वीट के लिखे सारे शब्दों को काट दिया गया और और उनके ट्वीटर एकाउंट के नाम और फोटो को उसी तरह दर्शाया गया,वायरल किए गए ट्वीट में शब्दों के लेखन से भी आप अंदाजा लगा सकते है कि मुख्यमंत्री के नाम से जो फर्जी ट्वीट किया गया है वह पूरी तरह से फर्जी है।

दोनों ट्वीट को देखने के बाद आप अंदाजा लगा सकते है कि आखिर किस तरह मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के द्वारा किये गए ट्वीट से छेड़छाड़ कर फ़र्जी तरह से वायरल किया गया है जो पूरी तरह से गलत है, यू तो किसी की व्यक्तिगत छवी को गलत तरह से नुकसान पहुंचाना अपराध है,वही मुख्यमंत्री पद पर बैठे व्यक्ति की छवि को इस तरह गलत तरीके से नुकसान पहुंचाना महाअपराध है,क्योकि मुख्यमंत्री पद की एक गरिमा है और उसे नुकसान पहुंचाना बेहद घटिया मानसिकता को उजागर करता है वो भी गलत तरीके से,ऐसे में ऐसे लोगों के खिलाफ कर्रवाई किया जाना उचित है जो गलत तरीके से किसी की भी छवि को नुकसान पहुंचाते हैं,ऐसे में देखना ये होगा कि जब मुख्यमंत्री ने मामले में कार्रवाई के निर्देश दिए है तो पुलिस कितनी जल्दी दोषियों को ढूंढ पाती है करवाई करती है।

 

सौजन्य से अपणु उत्तराखंड न्यूज़ पोर्टल……

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *