मुख्य सचिव ओम प्रकाश की अफसरों को सख्त हिदायत, बिना परमिशन कोरोना का इलाज करने वाले डॉक्टरों पर करें कड़ी कार्रवाई

देहरादून। मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के मद्देनजर व्यापक जनजागरूकता और संवेदनशील प्रशासन पर ध्यान देने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि आयुष विभाग ने प्री-कोविड और पोस्ट कोविड के लिए आयुष किट व अन्य व्यवस्थाएं की हैं। यह ज्यादा से ज्यादा व्यक्तियों तक पहुंचे और इसका प्रचार-प्रसार भी किया जाना चाहिए। उन्होंने जिलाधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि यदि जिलों में कोविड के लिए अधिकृत डॉक्टरों के अलावा अन्य कोई डॉक्टर कोविड मरीजों को दवा देता है तो ऐसे मामलों में सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाए। उन्होंने ट्रू-नॉट टेस्टिंग बढ़ाने पर भी जोर दिया।

कोरोना जांच परिणाम के ऑनलाइन पोर्टल की शुरुआत करने के बाद मुख्यमंत्री ने अधिकारियों संग कोविड की रोकथाम व बचाव कार्यों की समीक्षा की। इस दौरान मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने विविध पहलुओं पर रोशनी डाली। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि कोविड से निबटने के लिए अभी तक हमने जो प्रयास किए हैं, उनमें क्या सुधार की आवश्यकता है, किन मामलों में शिकायतें आई हैं, इनके समाधान के लिए क्या प्रयास किए गए, इन सब बिंदुओं का पूरा विश्लेषण किया जाए।

स्वास्थ्य सचिव अमित नेगी ने जिलों में कोविड कंट्रोल रूम मैनेजमेंट पर विशेष ध्यान देने को कहा। उन्होंने जनसामान्य की विभिन्न समस्याओं से संबंधित प्राप्त हो रही शिकायतों का त्वरित समाधान करने, होम आइसोलेशन में रह रहे व्यक्तियों को स्वास्थ्य किट उपलब्ध कराने, कोविड केयर सेंटरों में स्वच्छता, सैनिटाइजेशन, खान-पान व स्वास्थ्य की दृष्टि से आवश्यक व्यवस्थाएं सुचारू करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि सैंपल पैंडेंसी न हो।

एंटीजन टेस्ट में सिम्टोमैटिक पाए जाने वाले व्यक्तियों का आरटी-पीसीआर टेस्ट अवश्य कराया जाए। इस मौके पर अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था अशोक कुमार, सचिव आरके सुधांशु, नितेश झा, एसए मुरुगेशन, आइजी संजय गुंज्याल, महानिदेशक सूचना डॉ.मेहरबान सिंह बिष्ट, महानिदेशक स्वास्थ्य डॉ.अमिता उप्रेती मौजूद थे, जबकि सभी जिलों के डीएम, एसएसपी व सीएमओ वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिये कार्यक्रम से जुड़े।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *