उत्तराखंड के नवीं कक्षा के छात्रों को मिलेगा इसरो में जाने का मौका, ऐसे करें अप्लाई

उत्तराखंड के तीन स्कूली बच्चों को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) में जाने का मौका मिलेगा। इसरो की ओर से संचालित जय विज्ञान, जय अनुसंधान योजना के तहत युवा वैज्ञानिक कार्यक्रम (युविका) में बच्चों का चयन किया जा रहा है। जिसमें अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन छात्रों को उपग्रह बनाने की तकनीक को नजदीक से देखने और समझने का मौका देगा।
अंतरिक्ष क्षेत्र के प्रति छात्रों की रुचि पैदा करने और देश के अंतरिक्ष कार्यक्रम में बच्चों को शामिल करने के लिए इसरो ने यह अवसर प्रदान किया है। शोध एवं प्रशिक्षण अकादमी की निदेशक सीमा जौनसारी ने बताया कि इसरो के इस कार्यक्रम का उद्देश्य मुख्य रूप से अंतरिक्ष कार्यकलापों के उभरते क्षेत्रों में रुचि जगाने के इरादे से युवाओं को अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी, अंतरिक्ष विज्ञान और अंतरिक्ष अनुप्रयोगों पर बुनियादी ज्ञान प्रदान करना है।

इसरो ने इस कार्यक्रम को कम उम्र में ही बच्चों को ज्ञान प्रदान करने के लिए चुना है। आवासीय प्रशिक्षण कार्यक्रम गर्मियों की छुट्टियों के दौरान लगभग दो सप्ताह की अवधि का होगा और प्रत्येक वर्ष इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए प्रत्येक राज्य से तीन छात्रों का चयन किया जाएगा। जो सीबीएसई, आईसीएसई और राज्य पाठ्यक्रम के अध्ययनरत आठवीं कक्षा पूरी कर चुके हैं और वर्तमान में नवीं कक्षा में पढ़ रहे हैं, वे कार्यक्रम के लिए पात्र होंगे। उन्होंने बताया कि इच्छुक प्रतिभागी अपने जनपद के मुख्य शिक्षा अधिकारी से संपर्क कर अपना आवेदन 19 मार्च तक जमा करा सकते हैं। इसके अलावा प्रतिभागी SCERT उत्तराखंड की वेबसाइट www.scert.uk.gov.in पर भी आवेदन पत्र डाउनलोड कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम के बारे में अधिक जानकारी 08022172119 और 9496040045 नंबर से भी प्राप्त कर सकते हैं।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *