उत्तराखंड: कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत का बड़ा बयान, 2022 में नहीं लड़ेंगे विधानसभा चुनाव

भवन एवं कर्मकार कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष पद से बाहर होने से नाराज श्रम मंत्री और कोटद्वार के विधायक हरक सिंह ने 2022 का चुनाव नहीं लड़ने का एलान किया है। अध्यक्ष पद के विवाद पर हरक ने सिर्फ यही कहा कि यह मुख्यमंत्री के अधिकार क्षेत्र में है, मुख्यमंत्री से बात करने के बाद ही इस पर कुछ कह पाएंगे।

भवन एवं कर्मकार कल्याण बोर्ड के पुनर्गठन के बाद से गरमाई सियासत को हरक सिंह रावत ने शुक्रवार को और गरमा दिया। हरक सिंह ने मीडिया कर्मियों से दून में अपने आवास पर कुछ देर के लिए बात की।

हरक बोर्ड के अध्यक्ष पद के विवाद पर तो नया कुछ नहीं बोले लेकिन उन्होंने यह साफ कह दिया कि वे 2022 का चुनाव नहीं लड़ेंगे। बकौल हरक भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष और संगठन मंत्री को भी वे यह बता चुके हैं।

हरक के मुताबिक वे कई बार विधायक रह चुके हैं और अब उनकी इच्छा नहीं रह गई है। इतना कहने के बाद हरक ने यह भी साफ कर दिया कि इसका मतलब यह नहीं है कि वे सक्रिय राजनीति से दूर हो जाएंगे।

दूसरी ओर, अध्यक्ष पद के विवाद पर हरक ने अब साफ-साफ दोहराया कि वे मुख्यमंत्री से बात करने के बाद ही कुछ कहेंगे। हरक के मुताबिक अध्यक्ष पद पर किसी को रखना या न रखना मुख्यमंत्री का अधिकार है।

Source Link

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *