गणेश जोशी का दावा सबसे मजबूत, उत्तराखंड में मंत्रिमंडल विस्तार जल्द

देहरादून। उत्तराखंड में मंत्रिमंडल के विस्तार को लेकर कयासों का दौर अब खत्म होने को है। तकरीबन तीन साल बाद मंत्रिमंडल विस्तार पर आलाकमान से हरी झंडी मिलने के संकेत हैं।

मसूरी विधायक गणेश जोशी का दावा सबसे मजबूत

मंत्री पद पर मसूरी विधायक गणेश जोशी का दावा सबसे ज्यादा मजबूत नजर आ रहा है। भाजपा संगठन और आरएसएस के करीबी गणेश जोशी तीसरी बार लगातार विधायक चुनकर आए हैं। गणेश जोशी की गिनती भाजपा के उन नेताओं में होती है जिनका गुटबाजी से दूर दूर तक कोई लेना-देना नहीं है जिनकी सभी नेताओं से सीधे संपर्क औऱ बेहतर सम्बन्ध हैं। कार्यकर्ता में मजबूत पकड़ रखने वाले मसूरी विधायक गणेश जोशी को जब भी भाजपा आलाकमान ने कोई जिम्मेदारी सौंपी वह हर उम्मीदों पर खरा उतरे। देहरादून में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की रैली हो या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली हो या अन्य किसी दिग्गज नेता की रैली सबसे ज्यादा कार्यकर्ता मसूरी विधायक गणेश जोशी के नजर आते हैं। पूर्व सैनिकों, युवाओं औऱ अपने क्षेत्र में मजबूत पकड़ रखने वाले जोशी हर हर सुख दुख में जनता के साथ रहते हैं।

टिहरी लोकसभा क्षेत्र से नहीं है एक भी मंत्री

2017 में जब भाजपा की सरकार बनी थी तभी पूर्व सैनिकों और कार्यकर्ताओं ने जोर-शोर से गणेश जोशी को मंत्री बनाने की मांग की थी एक बार फिर यह मांग जोर पकड़ने लगी है गणेश जोशी का दावा ज्यादा मजबूत है क्योंकि टिहरी लोकसभा क्षेत्र में पढ़ने वाली विधानसभा से एक भी विधायक मंत्री नहीं है इन विधायकों के मुकाबले गणेश जोशी का दावा सबसे ज्यादा मजबूत है दिल्ली आलाकमान भी इस बात को जानता है एक बार फिर पूर्व सैनिक और कार्यकर्ता गणेश जोशी को मंत्री बनाने को लेकर लामबंद होने लगे हैं। सभी उम्मीद है कि इस बार भाजपा आलाकमान और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत उन्हें निराश नहीं करेंगे।

गणेश जोशी को मंत्री बनाने की मांग

उत्तराखंड की गिनती सैनिक बाहुल्य प्रदेशों में होती है। राजनीति के समीकरण तय करने में भी सैनिकों की बहुत बड़ी भूमिका होती है। उत्तराखंड में होने वाले 2022 के विधानसभा चुनाव और 2024 के लोकसभा चुनावों को देखते हुए भाजपा आलकमान सैनिकों को नाराज नहीं करना चाहेगा। पूर्व सैनिक लंबे समय से पूर्व सैनिक गणेश जोशी को मंत्री बनाने की मांग कर रहे हैं। पूर्व सैनिकों ने मसूरी विधायक गणेश जोशी को मंत्री बनाने की मांग उठानी शुरू कर दी है। पूर्व सैनिक संगठन (पीबीआरओ) ने लगातार तीसरी बार चुने गए जोशी को सैनिक कल्याण मंत्री बनाने की माग की है। पूर्व सैनिकों का कहना है कि सैन्य बहुल उत्तराखंड में पूर्व सैनिक को राज्य मंत्रीमंडल में लिया जाना चाहिए ताकि पूर्व सैनिकों की आवाज उठाई जा सके। पूर्व सैनिक और सैन्य परिवारों की समस्याओं का समाधान तभी हो पाएगा जब एक पूर्व सैनिक मंत्री होगा।

मंत्री पदों को इतने समय खाली रखना ठीक नहीं

उत्तराखंड में मंत्रिमंडल विस्तार के संकेत मिलते ही भाजपा में मंत्री पद को लेकर भी जोड़-तोड़ शुरू हो गई है। मंत्रिमंडल के विस्तार का मसला गर्माने लगा है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत पहले ही संकेत दे चुके हैं कि मंत्रिमंडल में रिक्त पद जल्द भरे जाएंगे। अब भाजपा के नवनिर्वाचित प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने भी इन पदों को भरने पर जोर दिया है। भगत ने कहा कि मंत्री पद भरना हालांकि, मुख्यमंत्री के विवेकाधिकार का मामला है, मगर इतने समय तक मंत्री पदों को खाली रखना ठीक नहीं है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *