“बेड़ू” लायेगा अब पहाड़ी क्षेत्रों में लघु एवं कुटीर उद्योगों की क्रान्ति, इच्छुक व्यक्ति को मिलेगा स्वरोजगार का अवसर

बेड़ू पाको बारोमासा गीत की धुन सुनकर सारे उत्तराखण्डी खुद को गौरवान्वित महसूस कर थिरकने लगते हैं। या कहें कि हर  उत्तराखण्डी के मुह में बेड़ू का नाम सुनते ही पानी आ जाता है, और वह अपने को पहाड़ की वादियों में पाता है। लेकिन अब यह बेड़ू सिर्फ गीत या फल के रूप में ही नहीं जाना जायेगा बल्कि यह स्वरोजगार, और पहाड़ से प्रेम करने वाले पहाड़ियों के घर में कहीं साबून तो कहीं, लिप बाम, तो कहीं बस अड़डे और दुकानों में सजी सुंदर बोतलों में बांझ की जड़ों से निकली बोतल के पानी में भी इसका स्वाद मिलेगा। बेड़ू अब सिर्फ फल नहीं बल्कि प्रतिष्ठित कंपनी के नाम से बाजार में जानी जायेगी।

आप सभी लोगों को यह जानकर आश्चर्य हो रहा होगा कि एक सामान्य सा पहाड़ी फल वास्तव में इतना लाभकारी होगा, लेकिन यह फल एक कम्पनी का नाम बनकर उत्तराखण्ड के पहाड से अपना व्यापार के नये आयाम को जन्म देगा। अक्सर कहा जाता है कि उत्तराखण्ड का पहाड़ी व्यक्ति बिजनेस मैन या वुमेन नहीं बन पाता है, लेकिन अब इस बात को चुनौती देगा बेड़ू।
BEDU The Mission Pvt. Ltd. के नाम से यमकेश्वर ब्लॉक में स्वरोजगार एवं लघु उद्योग और कुटीर उ़द्योग के माध्यम से यह कपंनी जल्दी ही बाजार में अपना सामान लेकर आम जनमानस के बीच आयेगी। बाजार में सामान उपलब्ध होने से पहले हम ’बेड़ू’ द मिशन प्रा0 लिमिटेड़ कम्पनी के बारे में विस्तार से आप सभी को अवगत करा देते हैं।
बेड़ू द मिशन प्रा0लि0 कम्पनी किसी उद्योगपति की नहीं है, और ना ही किसी अन्य संस्था की। यह कम्पनी है उत्तराखण्ड के पौड़ी जिले के पिछड़े हुये यमकेश्वर के वासी और प्रवासी कुछ कर गुजरने वाले लोगों की एक सकारात्मक सोच का प्रतिफल। यमकेश्वर के वे लोग जे अपने पहाड़ी क्षेत्र में स्वरोजगार करना चाहते हैं। यमकेश्वर प्रखण्ड के कुछ जागरूक लोगो एवं व्यवसाय से जुडे लोगों ने यमकेश्वर क्षेत्र में स्वरोजगार के लिए एक विचार को जन्म दिया। इस विचार को जन्म देने वाले थे यमकेश्वर के प्रवासी युवा श्री अनिल ग्वाड़ी और श्री हरि कपरवाण। एक विचार ने यमकेश्वर औद्यौगिक क्रान्ति के नाम से आगे बढने का फेसला लिया और लोगों को जोड़ने का सामुहिक प्रयास किया। पिछले फरवरी 2019 में बोये गये विचारों के बीज ने माह नवम्बर 2019 में बेड़ू द मिशन प्रा0लि0 कम्पनी के नाम से एक पौधे के रूप में अंकुरित हो चुका है। बेड़ू (BEDU) शब्द का अर्थ है Bright Era Of Development Uttarakhand, आईये जानते हैं बेड़ू द मिशन प्रा0 लि0 कम्पनी के बारे में यह क्या काम करेगी और किस तरह यह व्यवस्थित होगी।

बेड़ू द मिशन प्रा0लि0 का उद्देश्य : कुछ लोगो द्वारा मिलकर एक छोटा सा प्रयास, जिसके अंतर्गत शुरू में पूरे यमकेश्वर ब्लॉक/ विधानसभा के लोगो द्वारा व्यवसाय स्थापित किये जायेंगे और पूरे क्षेत्र में रोजगार के साथ-साथ क्षेत्र का विकास भी किया जाएगा। इसमें भविष्य में आवश्यकतानुसार क्षेत्र को विस्तृत करने का अधिकार कम्पनी के निदेशकों के पास निहित होगा।

कौन करेंगे, पात्रता क्या होगी?
शुरू में प्राथमिकता के तौर पर कोई भी व्यक्ति, जो यामकेश्वर ब्लॉक का निवासी हो, गांव में रहता हो या गांव से बाहर वो इसके सदस्य बन सकते है। सदस्य्ता रुपये 50,000/- प्रति व्यक्ति होंगे। एक व्यक्ति एक नाम से एक ही शेयर खरीद सकता है और अलग-अलग नाम से किंतने भी शेयर खरीद सकता है। कपंनी आवश्यकतानुसार भविष्य में यमकेश्वर से अलावा अन्य क्षेत्र के निवासियों को कंपनी की शर्तां और नियमों पर प्रवेश देने के लिए अधिकृत है।

क्या शेयर होल्डर को काम छोड़ कर गांव वापिस आना होगा?
नहीं, किसी को काम छोड़ने की जरूरत नहीं है। यदि कोई शेयर होल्डर किसी फील्ड में एक्सपर्ट है और वो हमारे द्वारा वो व्यवसाय स्थापित किया गया है तो वो शेयर होल्डर हमारे बेसिक पे स्केल के हिसाब से हमारे साथ काम कर सकता है।

Loading...

किस तरह का व्यवसाय करेंगे?
बहुत तरीके के व्यवसाय होंगे जो हमारे क्षेत्र के हिसाब से अनुकूल होंगे। उदाहरण के तौर पर :
एनिमल फार्मिंग के अंतर्गतः-दूध, दही, पनीर, घी, मक्खन, क्रीम, मट्ठा, अंडे, मीट, मछली, गोमूत्र, धूप-बत्ती, हवन सामग्री, मच्छर भागने वाले खुशबूदार उपले, खाद आदि।
बेकरी प्रोडक्टः मंडुवे की आटा ब्रेड / नॉर्मल ब्रेड मंडुवे के बंद / नार्मल बंद, मंडुवे के बिस्कुट / नार्मल बिस्कुट, मंडुवे के रस / नार्मल सूजी के रस, मंडुवे के लड्डू , मंडुवे की बर्फी आदि।
ट्रेडिंगः नहाने का साबुन, टूथ पेस्ट, शैम्प, हेयर आयल, सन्स क्रीम, हैंड वाश, सेविंग क्रीम, आफ्टर सेव क्रीम, लिप बाम, वाशिंग पाउडर, डिश वाश एंड पाउडर, ग्रीन टी, ब्लैक टी, मसाले, शहद, जैम, इत्यादि।

कैसे करेंगे?
कम से कम 100 शेयर होल्डर और ज्यादा से ज्यादा 200 शेयर होल्डर होंगे। टोटल कैपिटल शेयर होल्डर की होगी। शेयर होल्डर 200 पूरे हो जाने के बाद जो लोग जुड़ेंगे वो फाइनेन्सर के रूप में जुड़ेंगे। उनको फैसिलिटी पूरी मिलेगी पर टेक्निकली वो कंपनी के लोग नही रहेंगे।

फायदा क्या है ?
आप सिर्फ 50000/- पचास हज़ार में एक कंपनी के हिस्सेदार बन रहे है। जी हां आप कंपनी के मालिक होंगे जिसका कैपिटल 1 करोड़ मिनिमम होगा। और ये एक बहुत बड़ी बात है।
क्या सरकारी कर्मचारी इसके शेयर होल्डर बन सकेंगे ?
नही, सरकारी नियम के हिसाब से नही। लेकिन उनके परिवार का सदस्य बन सकता है।

उपरोक्त कंपनी की स्थापना से लेकर रजिस्ट्रेशन तक एवं व्यवस्था के लिए 06 निदेशक और 10 लोगों की कोर कमेटी का गठन किया गया है। इस संबंध में रजिस्ट्रेशन के उपरान्त, आने वाले नये साल 2020 में कम्पनी अपना सामान मार्केट में उतारने से पहले सभी कपंनी के शेयर होल्डरों और सदस्यों की आम बैठक कम्पनी के मुख्य कार्यालय वाटिका कैम्प, ग्राम बिजनी छोटी, यमकेश्वर में दिनांक 24 नवम्बर 2019 को आयोजित की गयी। बैठक में सभी महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर कम्पनी के निदेशकों ने प्रमुख बिन्दु जिसमें कम्पनी की कार्यकारणी, कम्पनी के द्वारा किये जाने वाले कार्यों पर अपनी प्रस्ताव रखे। कम्पनी के एमडी श्री हरिप्रसाद कपरुवाण ने कंपनी रिपोर्ट आम सभा में प्रस्तुत की। वहीं ट्रेडिंग निदेशक अमित अमोली ने अपने ट्रेडिंग की ना सिर्फ जानकारी दी बल्कि अपने उत्पादों के सैम्पल भी सामने प्रस्तुत किये जिसमें नहाने का हैंड मेड साबुन,बॉडी लोशन, लिप बॉम, हेयर कंडीशनल, हैंड वाश शामिल थे, जिनको जल्दी ही लॉच कर बाजार में आम नागरिकों के लिए उपलब्ध करा दिया जायेगा।
इसके साथ चन्द्र प्रकाश पेटवाल ने एनिमल फार्मिग पर अपनी बात रखी, वहीं उमाशंकर कुकरेती के द्वारा वाटर बॉटलिंग प्लांट  पर अपना प्रस्ताव रखा। इसके साथ ही धनीराम कपरुवाण, आशीष कण्डवाल, संदीप बिष्ट, दीपक बिष्ट, ने भी कम्पनी के सभी पक्षों पर अपनी बात रखी। बैठक मेंं हरि प्रसाद कपरवाण, धर्मा रावत, धनीराम कपरुवाण, अमित अमोली, पूरण कैन्तुरा, चन्द्र प्रकाश पेटवाल, उमाशंकर कुकरेती, सत्या हर्षवाल, हरेन्द्र पयाल, महेश्वर प्रसाद कुकरेती, एसपी जोशी, आशीष कण्डवाल, सुरेश पयाल, सुरेन्द्र बिजलवाण, राजीव जोशी, संदीप नेगी, सुदेश भट्ट, मुकेश रावत, दीपक बिष्ट, हरीश कण्डवाल, वेद किशोर, आदि सदस्य मौजूद थे।
कंपनी के बारे में अधिक जानकारी आप श्री हरि प्रशाद कपरूवान जी से ले सकते हैं उनका मोबाइल नंबर है 9818269451

हरीश कण्डवाल मनखी की कलम से

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *