सावधान : इन जगहों पर भूलकर भी मत करना अपना फोन चार्ज, क्या है वजह आइये जानते हैं

अगर आप सार्वजनिक जगहों पर चार्जिंग स्टेशन में अपना मोबाइल फोन चार्ज करते हैं तो सावधान हो जाएं। ऐसा करने पर साइबर अपराधी आपके मोबाइल फोन से अहम जानकारी और डॉटा चुरा सकते हैं। साइबर पुलिस ने लोगों को आगाह किया है कि वे सार्वजनिक जगहों पर लगे चार्जिंग स्टेशनों पर मोबाइल फोन चार्ज करने से बचें।

आजकल मोबाइल फोन का इस्तेमाल कंप्यूटर की तरह लिया जा रहा है। लोग मोबाइल फोन का इस्तेमाल न केवल कॉल करने के लिए करते हैं बल्कि इसका मल्टीपल उपयोग किया जाता है। मोबाइल फोन से बैंक खातों को ऑनलाइन ऑपरेट भी किया जाने लगा है। वहीं बैंक खातों की स्टेटमेंट का मैसेज भी मोबाइल फोन पर ही आती हैं। इसी तरह कई अन्य अहम जानकारियां और सीक्रेट डॉटा भी लोगों का होता है जो कि मोबाइल फोन में रहता है। लेकिन मोबाइल फोन पर किसी और की एक्सेस इसमें इस तरह की अहम जानकारियों और डॉटा चुरा सकती हैं।

बिना सोचे समझे फोन को चार्जिंग पर लगाना खतरनाक है। ऐसा करने से आपका बैंक अकाउंट खाली भी हो सकता है। लोग अक्सर कहीं भी जाने से पहले अपना फोन चार्ज करते हैं लेकिन कई दफा ऐसा होता है कि जल्दबाजी में या तो फोन चार्ज नहीं हो पाता या फिर उसकी बैट्री जल्द खत्म हो जाता है। ऐसे में फोन चार्ज करने का जो विकल्प होता है वो चार्जिंग पॉइंट्स होते हैं। रेलवे स्टेशन्स, बस स्टॉप, होटल्स समेत अन्य जगहों पर चार्जिंग पॉइंट्स होते हैं। आप बेधड़क होकर इनमें अपना फोन चार्ज भी कर लेते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि ऐसा करना घातक है।

ज्यूस जैकिंग दरअसल, एक तरह का सायबर अटैक है जिसमें हैकर्स किसी चार्जिंग पोर्ट को डेटा कनेक्शन के रूप में बदल देते हैं। इसके बाद जैसे ही यूजर फोन चार्जिंग पर लगाता है, डेटा केबल के माध्यम से आ रहे डेटा को चुरा सकते हैं।
यूं करें बचाव, बैंक ने दी जानकारी बैंक ने यूजर्स के लिए गाइडलाइन जारी की है और बताया है कि कैसे इससे बचा जा सकता है। बैंक के अनुसार, यूजर को किसी भी चार्जिंग स्टेशन के पास इलेक्ट्रिक सॉकेट देखना चाहिए। साथ ही अपनी खुद की चार्जिंग केबल लेकर चलना चाहिए। साथ ही जब भी चार्ज करें तो संभव हो तो इलेक्ट्रिक सॉकेट से चार्च चार्ज करें तो बेहतर होगा।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *