एटीएम के नियम बदले आरबीआई ने

नई दिल्ली,एजेंसी। भारतीय रिजर्व बैंक ने एटीएम इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों को राहत दी है। एटीएम ट्रांजेक्शन में फेल ट्रांजेक्शन जैसी परेशानी जिसे बैंक ऐसी फेल ट्रांजेक्शन गिनती करते हैं और ग्राहकों के फ्री ट्रांजेक्शन कम हो जाते हैं। अब एटीएम इस्तेमाल करने के नियमों को लेकर आरबीआई ने नियम जारी किए हैं जिससे ग्राहकों को फायदा होगा।

बता दें कि बैंक कुछ ही संख्या में एटीएम की फ्री ट्रांजेक्शन हर महीने अपने ग्राहकों को देते हैं इसके बाद वह ग्राहकों से चार्ज लेते हैं। ग्राहकों को फायदा पहुंचान के लिए आरबीआई ने सर्कूलर जारी करके फ्री ट्रांजेक्शन के नियम बताए हैं। ग्राहकों की शिकायत है कि बैंक फेल ट्रांजैक्शन को भी फ्री ट्रांजैक्शन गिनता है और ज्यादातर बैंक 5 से 8 फ्री एटीएम ट्रांजेक्शन के बाद चार्ज वसूलते है।

Loading...

देश का सबसे बड़ा बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया सामान्य सेविंग अकाउंट पर 8 फ्री ट्रांजेक्शन देता है। जिसमें 5 फ्री ट्रांजेक्शन एसबीआई एटीएम और तीन अन्य बैंकों पर देता है औश्र छोटे शहरों में 10 फ्री ट्रांजेक्शन मिलती है।

आरबीआई एटीएम से जुड़े नए नियम
– अब बैंक नॉन कैश ट्रांजेक्शन जैसे बैलेंस की जानकारी, चेक बुक अप्लाई, टैक्स पेमेंट या फंड ट्रांसफर को एटीएम ट्रांजेक्शन में नहीं गिना जाएगा। यानी ये अब फ्री ट्रांजेक्शन में नहीं गिना जाएगा। इसके अलावा बैंक फेल ट्रांजेक्शन को भी एटीएम ट्रांजेक्शन में नहीं गिना जाएगा।
– पिन वैलिडेशन की वजह से एटीएम ट्रांजेक्शन फेल होने को भी एटीएम ट्रांजैक्शन में नहीं गिना जाएगा।
– आरबीआई ने कहा है कि बैंक फेल ट्रांजेक्शन पर चार्ज नहीं वसूल सकते।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *